Rajasthan gk

 1 राजस्‍थान का प्रवेश द्वार किसे कहा जाता है
भरतपुर
2 महुआ के पेङ पाये जाते है
अदयपुर व चितैङगढ
3 राजस्‍थान में छप्‍पनिया अकाल किस वर्ष पङा
1956 वि स
4 राजस्‍थान में मानसून वर्षा किस दिशा मे बढती है
दक्षिण पश्चिम से उत्‍तर पूर्व
5 राजस्‍थान में गुरू शिखर चोटी की उचाई कितनी है
1722 मीटर
6 राजस्‍थान में किस शहर को सन सिटी के नाम से जाना जाता है
जोधपुर को
7 राजस्‍थान की आकति है
विषमकोण चतुर्भुज
8 राजस्‍थान के किस जिले का क्षेत्रफल सबसे ज्‍यादा है
जैसलमेर
9 राज्‍य की कुल स्‍थलीय सीमा की लम्‍बाई है
5920 किमी
10 राजस्‍थान का सबसे पूर्वी जिला है
धौलपुर
11 राजस्‍थान का सागवान कौनसा वक्ष कहलाता है
रोहिङा
12 राजस्‍थान के किसा क्षेत्र में सागौन के वन पाये जाते है
दक्षिणी
13 जून माह में सूर्य किस जिले में लम्‍बत चमकता है
बॉसवाङा
14 राजस्‍थान में पूर्ण मरूस्‍थल वाले जिलें हैंा
जैसलमेर, बाडमेर
15 राजस्‍‍थान के कौनसे भाग में सर्वाधिक वर्षा होती है
दक्षिणी-पूर्वी
16 राजस्‍थान में सर्वाधिक तहसीलों की संख्‍या किस जिले में है
जयपुर
17 राजस्‍थान में सर्वप्रथम सूर्योदय किस जिले में होता है
धौलपुर
18 उङिया पठार किस जिले में स्थित है
सिरोही
19 राजस्‍थान में किन वनों का अभाव है
शंकुधारी वन
20 राजस्‍थान के क्षेत्रफल का कितना भू-भाग रेगिस्‍तानी है
लगभग दो-तिहाई
21 राजस्‍थान के पश्चिम भाग में पाये जाने वाला सर्वाधिक विषैला सर्प
पीवणा सर्प
22 राजस्‍थान के पूर्णतया वनस्‍पति रहित क्षेत्र
समगॉव (जैसलमेर)
23 राजस्‍थान के किस जिले में सूर्य किरणों का तिरछापन सर्वाधिक होता है
श्रीगंगानगर
24 राजस्‍थान का क्षेतफल इजरायल से कितना गुना है
17 गुना बङा है
25 राजस्‍थान की 1070 किमी लम्‍बी पाकिस्‍तान से लगी सिमा रेखा का नाम
रेडक्लिफ रेखा
26 कर्क रेखा राजस्‍थान के किस जिले से छूती हुई गुजरती है
डूंगरपुर व बॉसवाङा से होकर
27 राजस्‍थान में जनसंख्‍या की द़ष्टि से सबसे बङा जिला
जयपुर
28 थार के रेगिस्‍तान के कुल क्षेत्रफल का कितना प्रतिशत राजस्‍थान में है
58 प्रतिशत
29 राजस्‍थान के रेगिस्‍तान में रेत के विशाल लहरदार टीले को क्‍या कहते है
धोरे
30 राजस्‍थान का एकमात्र जीवाश्‍म पार्क स्थित है
आकलगॉव (जैसलमेर)

राजस्‍थान सामान्‍य ज्ञान (धार्मिक विश्‍वास, सम्‍परदाय, संत, कवि, लोक देवता एंव लोक देवियां)
1    राजस्‍थान में लोक देवता और संतों की जन्‍म एवं कर्म स्‍थली के लिए प्रसिध्‍द है
   – नागौर
    > नागौर की वीर और भक्ति रस के संगम स्‍थल के रूप में भी जाना जाता है

2    तेजाजी का विवाह कहां के नरेश की पुत्री से हुआ था
   -पनेर (अजमेर)

> तेजाजी का विवाह पनेर नरेश रामचन्‍द की पुत्री पैमल से हुआ था

3    लोक देवता की राज्‍य क्रांति का जनक माना जाता है
देवनारायण जी
    >देवमाली-आसींद के पास देवनारायण का प्रमुख तीर्थ स्‍थल है

4    चौबीस बाणियां किस लोकदेवता से संवंधित पुस्‍तक/ग्रन्‍थ है
-रामदेवजी

>रामदेवजी का वाहन नीला घोङा था, रामदेवरा में रामदेवजी का मेला लगता है

5    संत रैदास किसके शिष्‍य थे
संत रामानन्‍द जी के

>संत रैदास मीरां के गुरू थे

6    कौन से संत राजस्‍थान के न्रसिंह के नाम से जाने जाते हे
-भक्‍त कवि दुर्लभ जी

> कवि बागङ क्षेत्र के संत है

7    संत रज्‍जनबजी की प्रधान गद्दी है
सांगानेर में
>संत रज्‍जबती भी संत दादूजी के शिष्‍य थे, जीवन भर दूल्‍हे के वेश में रहने वाले संत रज्‍जब ही थे

8    लोक संत पीपाली की गुफा किस जिले में है
-झालावाङ में
>राजस्‍थान के लोक संत पीपाजी का विशाल मेला समदङी ग्राम में लगता है

9    मेव जाति से संबंध वाले संत है
लालदासजी
>लालदास जी सम्‍प्रदाय के प्रवर्तक लालदास जी ही है

10    भौमिया जी को किस रूम में जाना जाता है
-भूमि के रक्षक
    >संत धन्‍ना राजस्‍थान में टोंक जिले के धुवन में हुआ था

11    राजस्‍थान में बरसात का लोक देवता निम्‍नलिखित में से किस देवता को माना जाता है
-मामा देव
    >मांगलियों के इष्‍ट देवत मेहाजी है,

12    संत जसनाथजी का जन्‍म किस जिले में हुआ था
-बीकानेर
>जसनाथी सम्‍प्रदाय के कुल 36 नियम है

13    दादूपंथी सम्‍प्रदाय की प्रमुख गद्दी स्थित है
-नरैना (जयपुर) में
>दादूदयाल का जन्‍म गुजरात में हुआ था

14    किस लोक देवता कामङिया पंथ की स्‍थापना की थी
बाबा रामदेवजी ने
> रामदेवजी जाति प्रथा का विराध करते थे, बाबा रामदेव का जन्‍म बाङमेर जिले की शिव तहसील में उण्‍डू -कश्‍मीर गांव में हुआ था

15    किस लोक देवता को जाहिर पीर के नाम से जाना जाता है
-गोगाजी को
    >गोगाजी को मुस्ल्मि सम्‍प्रदाय के लोग गोगा पीर कहते है, इन्‍हें राजस्‍थान में पंचपीरों में गिना जाता है, गोगामेङी हनुमानगढ मेला भरता है

16    वीर बग्‍गाजी का जन्‍म किस जिले में हुआ था
-बीकानेर में
>बीर बग्‍गाजी का जन्‍म बीकानेर जिले के जांगलू गांव में हुआ था

17    आलमजी की राजस्‍थान के किस में लोकदेवता के रूप में पूजा जाता है
-बाङमेर में
> आलमजी को बाङमेर जिले के मालाणी प्रदेश में राङधरा क्षेत्र में लोक देवता के रूप में पूजा जाता है

18    जाम्‍भेजी लोक देवता का प्रसिध्‍द स्‍थान कौनसा है
-संभारथाल बीकानरे

19    रामदेवजी लोक देवता का प्रसिध्‍द स्‍थान कौनसा है
-खेङापा जोधपुर

20    गोगाजी लोक देवता का प्रसिध्‍द स्‍थाल कौनसा है
-गोगामेङी हनुमानगढ

World Histor, Indian History, Indian Economy, Indian Polity, General Science, Geography of India, Books and Authors, Awards and Honours, World : Miscellaneous, India : Miscellaneous, General Knowledge Quiz,Current GK, currentgk, General Knowledges, Current Affairs, GENERAL KNOWLEDGE QUIZ,CURRENT AFFAIRS,GENERAL KNOWLEDGE, PERSONALITY,WHO’S WHO,INDIA GK,WORDS AND VOCABULARY,BUSINESS GK,SCIENCE GK, ENVIRONMENT GK, AMAZING FACTS,BANK PO AND CLERICAL EXAM QUESTIONS,INDIA’S ECONOMY,BRAIN TEASERS,INDUSTRY NEWS-INDIA,SPORTS GK,COMPETITIVE EXAM QUESTIONS AND ANSWERS,HISTORY,GEOGRAPHY,INDIAN CONSTITUTION AND 5 YEAR PLAN,GK FOR MBA ENTRANCE EXAMINATIONS, MAT,SNAP 2010,INTERVIEW TECHNIQUES, GROUP DISCUSSION, RAILWAY RECRUITMENTS, UPSC, IAS, FREE QUIZZES2011,Current GK, GK Quiz,india current gk,Latest GK, Parliament of India, General Knowledge Current,Current GK, current general knowledge, currentgk, General Knowledge Today ,Current Affairs, Latest GK,

Rajasthan General Knowledge Quiz

Rajasthan History, Rajasthan Economy, Rajasthan Polity, Geography of Rajasthan, Rajasthan Books and Authors, Rajasthan Awards and Honours, Rajasthan Miscellaneous, Rajasthan General Knowledge Quiz, Rajasthan Current GK, Rajasthan currentgk, Rajasthan General Knowledges, Rajasthan Current Affairs, Rajasthan GENERAL KNOWLEDGE QUIZ, Rajasthan CURRENT AFFAIRS, Rajasthan GENERAL KNOWLEDGE, Rajasthan PERSONALITY, Rajasthan GK, Rajasthan BUSINESS GK, Rajasthan ENVIRONMENT GK, Rajasthan AMAZING FACTS, Rajasthan INDUSTRY NEWS-INDIA, Rajasthan SPORTS GK, Rajasthan COMPETITIVE EXAM QUESTIONS AND ANSWERS, Rajasthan HISTORY, Rajasthan GEOGRAPHY, Rajasthan CONSTITUTION AND 5 YEAR PLAN, Rajasthan RAILWAY RECRUITMENTS, abour rajasthan, Rajasthan, Rajasthan Festivals Fairs, Rajasthan Geography, rajasthan history, Rajasthan Profile, Rajasthan rajasthan, Rajasthan Tourist
http://rajasthanhelp

World Histor, Indian History, Indian Economy, Indian Polity, General Science, Geography of India, Books and Authors, Awards and Honours, World : Miscellaneous, India : Miscellaneous, General Knowledge Quiz,Current GK, currentgk, General Knowledges, Current Affairs, GENERAL KNOWLEDGE QUIZ,CURRENT AFFAIRS,GENERAL KNOWLEDGE, PERSONALITY,WHO’S WHO,INDIA GK,WORDS AND VOCABULARY,BUSINESS GK,SCIENCE GK, ENVIRONMENT GK, AMAZING FACTS,BANK PO AND CLERICAL EXAM QUESTIONS,INDIA’S ECONOMY,BRAIN TEASERS,INDUSTRY NEWS-INDIA,SPORTS GK,COMPETITIVE EXAM QUESTIONS AND ANSWERS,HISTORY,GEOGRAPHY,INDIAN CONSTITUTION AND 5 YEAR PLAN,GK FOR MBA ENTRANCE EXAMINATIONS, MAT,SNAP 2010,INTERVIEW TECHNIQUES, GROUP DISCUSSION, RAILWAY RECRUITMENTS, UPSC, IAS, FREE QUIZZES2011,Current GK, GK Quiz,india current gk,Latest GK, Parliament of India, General Knowledge Current,Current GK, current general knowledge, currentgk, General Knowledge Today ,Current Affairs, Latest GK,

Rajasthan General Knowledge राजस्थान – भौगोलिक और आर्थिक परिप्रेक्ष्य

राजस्थान की चोहरी इसे एक पतंगाकार आकृति प्रदान करता है। राज्य २३ से ३० अक्षांश और ६९ से ७८ देशान्तर के बीच स्थित है। इसके उत्तर में पाकिस्तान, पंजाब और हरियाणा, दक्षिण में मध्यप्रदेश और गुजरात, पूर्व में उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश एवं पश्चिम में पाकिस्तान है।
सिरोही से अलवर की ओर जाती हुई ४८० कि.मी. लम्बी अरावली पर्वत श्रृंखला प्राकृतिक दृष्टि से राज्य को दो भागों में विभाजित करती है। राजस्थान का पूर्वी सम्भाग शुरु से ही उपजाऊ रहा है। इस भाग में वर्षा का औसत ५० से.मी. से ९० से.मी. तक है। राजस्थान के निर्माण के पश्चात् चम्बल और माही नदी पर बड़े-बड़े बांध और विद्युत गृह बने हैं, जिनसे राजस्थान को सिंचाई और बिजली की सुविधाएं उपलब्ध हुई है। अन्य नदियों पर भी मध्यम श्रेणी के बांध बने हैं। जिनसे हजारों हैक्टर सिंचाई होती है। इस भाग में ताम्बा, जस्ता, अभ्रक, पन्ना, घीया पत्थर और अन्य खनिज पदार्थों के विशाल भण्डार पाये जाते हैं।
राज्य का पश्चिमी संभाग देश के सबसे बड़े रेगिस्तान “थारपाकर’ का भाग है। इस भाग में वर्षा का औसत १२ से.मी. से ३० से.मी. तक है। इस भाग में लूनी, बांड़ी आदि नदियां हैं, जो वर्षा के कुछ दिनों को छोड़कर प्राय: सूखी रहती हैं। देश की स्वतंत्रता से पूर्व बीकानेर राज्य गंगानहर द्वारा पंजाब की नदियों से पानी प्राप्त करता था। स्वतंत्रता के बाद राजस्थान इण्डस बेसिन से रावी और व्यास नदियों से ५२.६ प्रतिशत पानी का भागीदार बन गया। उक्त नदियों का पानी राजस्थान में लाने के लिए सन् १९५८ में राजस्थान नहर (अब इंदिरा गांधी नहर) की विशाल परियोजना शुरु की गई। यह परियोजना सन् २००५ तक सम्पूर्ण होगी। इस परियोजना पर ३००० करोड़ रु. व्यय होने का अनुमान है। इस समय इस पर १६०० करोड़ रु. व्यय हो चुके हैं। अब तक ६४९ कि.मी. लम्बी मुख्य नहर पूरी हो चुकी है। नहर की वितरिका प्रणाली लगभग ९००० कि.मी. होगी, इनमें से ६००० कि.मी. वितरिकाएं बन चुकी है। इस समय १० लाख हैक्टेयर भूमि परियोजना के सिंचाई क्षेत्र में आ गई है। परियोजना के पूरी होने के बाद क्षेत्र की कुल १५.७९ लाख हैक्टेयर भूमि सिंचाई से लाभान्वित होगी, जिससे ३५ लाख टन खाद्यान्न, ३ लाख टन वाणिज्यिक फसलें एवं ६० लाख टन घास उत्पन्न होगी। परियोजना क्षेत्र में कुल ५ लाख परिवार बसेंगे। जोधपुर, बीकानेर, चुरु एवं बाड़मेर जिलों के नगर और कई गांवों को नहर से विभिन्न “लिफ्ट परियोजनाओं’ से पहुंचाये गये पीने का पानी उपलब्ध होगा। इस प्रकार राजस्थान के रेगिस्तान का एक बड़ा भाग शस्य श्यामला भूमि में बदल जायेगा। सूरतगढ़ में यह नजारा इस समय भी देखा जा सकता है।
इण्डस बेसिन की नदियों पर बनाई जाने वाली जल-विद्युत योजनाओं में भी राजस्थान भागीदार है। इसे इस समय भाखरा-नांगल और अन्य योजनाओं के कृषि एवं औद्योगिक विकास में भरपूर सहायता मिलती है। राजस्थान नहर परियोजना के अलावा इस भाग में जवाई नदी पर निर्मित एक बांध है, जिससे न केवल विस्तृत क्षेत्र में सिंचाई होती है, वरन् जोधपुर नगर को पेय जल भी प्राप्त होता है। यह सम्भाग अभी तक औद्योगिक दृष्टि से पिछड़ा हुआ है। पर इस क्षेत्र में ज्यो-ज्यों बिजली और पानी की सुविधाएं बढ़ती जायेंगी औद्योगिक विकास भी गति पकड़ लेगा। इस बाग में लिग्नाइट, फुलर्सअर्थ, टंगस्टन, बैण्टोनाइट, जिप्सम, संगमरमर आदि खनिज पदार्थ प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं। जैसलमेर क्षेत्र में तेल मिलने की अच्छी सम्भावनाएं हैं। हाल ही की खुदाई से पता चला है कि इस क्षेत्र में उच्च कि की गैस प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। अब वह दिन दूर नहीं है जबकि राजस्थान का यह भाग भी समृद्धिशाली बन जाएगा।
राज्य का क्षेत्रफल ३.४२ लाख वर्ग कि.मी. है जो भारत के क्षेत्रफल का १०.४० प्रतिशत है। यह भारत का सबसे बड़ा राज्य है। वर्ष १९९६-९७ में राज्य में गांवों की संख्या ३७८८९ और नगरों तथा कस्बों की संख्या २२२ थी। राज्य में ३२ जिला परिषदें, २३५ पंचायत समितियां और ९१२५ ग्राम पंचायतें हैं। नगर निगम २ और सभी श्रेणी की नगरपालिकाएं १८० हैं।
सन् १९९१ की जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या ४.३९ करोड़ थी। जनसंखाय घनत्व प्रति वर्ग कि.मी. १२६ है। इसमें पुरुषों की संख्या २.३० करोड़ और महिलाओं की संख्या २.०९ करोड़ थी। राज्य में दशक वृद्धि दर २८.४४ प्रतिशत थी, जबकि भारत में यह दर २३.५६ प्रतिशत थी। राज्य में साक्षरता ३८.८१ प्रतिशत थी. जबकि भारत की साक्षरता तो केवल २०.८ प्रतिशत थी जो देश के अन्य राज्यों में सबसे कम थी। राज्य में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति राज्य की कुल जनसंख्या का क्रमश: १७.२९ प्रतिशत और १२.४४ प्रतिशत है।
१९९६-९७ के अन्त में प्राथमिक विद्यालय ३३८९, उच्च प्राथमिक विद्यालय १२,६९२, माध्यमिक विद्यालय ३५०१ और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय १४०४ थे। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में विश्वविद्यालय ६, “डीम्ड’ विश्वविद्यालय ४, कला वाणिज्य और विज्ञान महाविद्यालय २३१, इंजीनियकिंरग कॉलेज ७, मेडिकल कॉलेज ६, आयुर्वेद महाविद्यालय ५ और पोलीटेक्निक २४ हैं। राज्य में हॉस्पिटल २९, डिस्पेंसरियां २७८, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र १६१६, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र २६१, शहरी सहायता केन्द्र १३, उपकेन्द्र ९४००, मातृ एवं शिशु कल्याण केन्द्र ११८ एवं अन्तरोगी शैय्या में ३६७०२ हैं। आयुर्वेद औषधालयो की संख्या ३५७१ और होम्योपैथी चिकित्सालयों की संख्या १४६८ और भ्रमणशील पशु चिकित्सालयों की संख्या ५३ है।
राज्य में पशुधन की संख्या ६ करोड़ से अधिक है। राज्य के सभी नगर एवं ३७,२७४ गांव सुरक्षित पेय जल योजना के अन्तर्गत आ चुके हैं। राज्य में सड़कों की कुल लम्बाई १,३८,००० कि.मी. थी और वाहनों की संख्या १९.८ लाख थी। इनमें कारों और जीपों की संख्या १,६० लाख थी।
१९९६-९७ में राज्य का सकल घरेलू उत्पाद स्थिर कीमतों पर लगभग १२४२० करोड़ रु. और सुद्ध घरेलू उत्पाद ११,०२१ करोड़ रु का था। राज्य में प्रति व्यक्ति आय २,२३२ रु. थी। उक्त वर्ष राज्य में खाद्यान्न उत्पाद १२७०२ लाख टन था और तिलहन तथा कपास का उत्पादन क्रमश: ४० लाख टन और १२.९५ लाख गांठें थी। राज्य में फसलों के अन्तर्गत कुल १७५ लाख हैक्टेयर क्षेत्र था। इसका २९ प्रतिशत सिंचित क्षेत्र था।
राज्य में १९९६ में शक्कर का उत्पादन ३१ हजार टन, वनस्पति घी का ३० हजार टन, नमक का ११ लाख टन, सीमेन्ट का ६६ लाख टन, सूती कपडे का ४५७ लाख मीटर और पोलिएस्टर धागे का उत्पादन ११५०० टन हुआ। प्रदेश में १९९६ में सार्वजनिक क्षेत्र में १०.१० लाख और निजी क्षेत्र में २.५६ लाख व्यक्ति कार्यरत थे। राज्य में बैंकों की कुल शाखाएं ३२१७ थीं, जिनमें क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की १०७० शाखाएं शामिल हैं।

Rajasthan GK

Rajasthan GK, Rajasthan GK Quiz, About Rajasthan,Rajasthan,Rajasthan Current Affairs,Rajasthan current GK,Rajasthan General Knowledge,Rajasthan Geography,Rajasthan GK,Rajasthan History,Rajasthan Tourist,State of India

Rajasthan GK Quiz

1. अकबर ने चित्तौड़ पर कब आक्रमण कर कब्जा किया?

Ans. 1567 ई. में

2. अकबर के चित्तौड़ पर आक्रमण के समय किसके नेतृत्व में हजारों राजपूतों ने मुगल सेना का मुकाबला किया?

Ans. वीर जयमल और पत्ता ने

3. महाराणा प्रताप का राजतिलक कब व कहाँ हुआ?

Ans. 1572 ई. में गोगुंदा में

4. राणा प्रताप और अकबर की सेना के मध्य हल्दीघाटी का प्रसिद्ध युद्ध किस दिन प्रारंभ हुआ?

Ans. 18 जून 1576 को

5. हल्दीघाटी के युद्ध में किस मैदान में राणा प्रताप मुगल सेना से घिर गए थे?

Ans. खमनोर गाँव के रक्त तलाई के मैदान में

6. हल्दीघाटी युद्ध में शहीद हुए राणा प्रताप के सेनापति पठान हकीम खाँ सूरी की समाधि (मजार) कहाँ स्थित है?

Ans. खमनोर गाँव के रक्त तलाई के मैदान में

7. हल्दीघाटी के पास स्थित खमनोर गाँव के रक्त तलाई के मैदान में ग्वालियर के किस राजकुमार ने अपने प्राण उत्सर्ग किए जिसकी समाधि (छतरी) भी वहाँ स्थित है?

Ans. राम सिंह तंवर

8. हल्दीघाटी युद्ध के शुरू होने से पूर्व अकबर की शाही सेना ने जिस स्थान पर डेरा डाला था, उसे क्या कहा जाता है?

Ans. शाही बाग

9. राणा प्रताप के घोड़े की समाधि कहाँ स्थित है?

Ans. हल्दीघाटी में

10. हल्दीघाटी युद्ध में प्रताप के घोड़े चेतक घायल हो जाने पर परिस्थिति को समझते हुए किस वीर राजपूत ने राजचिन्ह और ध्वज अपने हाथ में ले लिया और प्रताप के स्थान पर स्वयं लड़ कर प्रताप को युद्ध मैदान से बाहर निकाला था?

Ans. राजराणा वीदा (झाला मान)

Rajasthan General Knowledge

Rajasthan

Particulars Description
Area 3,42,239 sq. km
Population 5,64,73,122
Capital Jaipur
Principal Languages Hindi and Rajasthani

History and Geography

Rajasthan, the largest State in India area-wise prior to Independence was known as Rajputana. The Rajputs, a martial community ruled over this area for centuries.
The history of Rajasthan dates back to the pre-historic times. Around 3,000 and 1,000 BC, it had a culture akin to that of the Indus Valley civilisation. The Chauhans who dominated Rajput affairs from seventh century and by 12th century they had become an imperial power. After the Chauhans, the Guhilots of Mewar controlled the destiny of the warring tribes. Besides Mewar, the other historically prominent states were Marwar, Jaipur, Bundi, Kota, Bharatpur and Alwar. Other States were only offshoots of these. All these States accepted the British Treaty of Subordinate Alliance in 1818 protecting the interest of the princes. This naturally left the people discontented.
After the revolt of 1857, the people united themselves under the leadership of Mahatma Gandhi to contribute to the freedom movement. With the introduction of provincial autonomy in 1935 in British India, an agitation for civil liberties and political rights became stronger in Rajasthan. The process of uniting scattered States commenced from 1948 to 1956 when the States Reorganisation Act was promulgated. First came Matsya Union (1948) consisting of a fraction of states, then, slowly and gradually other states merged with this Union. By 1949, Major States like Bikaner, Jaipur, Jodhpur and Jaisalmer joined this Union making it the United State of Greater Rajasthan. Ultimately in 1958, the present State of Rajasthan formally came into being, with Ajmer state, the Abu Road Taluka and Sunel Tappa joining it.
The entire western flank of the State borders with Pakistan, while Punjab, Haryana, Uttar Pradesh and Madhya Pradesh bound Rajasthan in north-east, south-east and Gujarat in south-west.

Agriculture

Total cultivable area in the State is 225 lakh hectares (2008-2009). The estimated foodgrain production is 161.80 lakh tonnes (2008-09). Principal crops cultivated in the State are rice, barley, jowar, millet, maize, gram, wheat, oilseeds, pulses, cotton and tobacco. Cultivation of vegetable and citrus fruits such as orange and malta has also picked up over last few years. Other crops are red chillies, mustard, cumin seeds, fenugreek (methi) and asafoetida (hing).

Industry and Minerals

Endowed with a rich culture, Rajasthan is also rich in minerals and is fast emerging on the industrial scenario of the country. Some of the important Central undertakings are Zinc Smelter Plant at Devari (Udaipur), Copper Plant at Khetri Nagar (Jhunjhunu) and Precision Instrument Factory at Kota. Small-scale industrial units numbering 13,16,267 with a capital investment of Rs.8,88,820.70 crore provides employment potential to about 13,16,267 persons in the States as on March 2009. Major industries are textiles and woollens, sugar, cement, glass, sodium plants, oxygen, vegetable dyes, pesticides, zinc, fertilizers, railway wagons, ball bearings, water and electricity metres, sulphuric acid, television sets, synthetic yarn and insulting bricks. Besides, precious and semi-precious stones, caustic soda, calcium carbide, nylon and tyers, etc. are other important industrial units.
Rajasthan has rich deposits of zinc concentrates, emerald, granite, gypsum, silver ore, asbestos, feldspar and mica. Promotional Industrial Park of the country has been established and made operational at Sitapura (Jaipur).

Irrigation and Power

By the end of March 2009 irrigation potential of 36.46 lakh hectares was created in the State through various major, medium and minor irrigation projects and additional irrigation potential of 58,067 hectares (excluding IGNP & CAD) had been created. The installed power capacity in the State has become 7019.59Mw upto December 2009 of which 4375.30 Mw is produced from State-owned projects, 766.00 Mw from collaboration projects and 1879.29 Mw from the allocation from Central power generating stations.

Transport

Roads: The total length of roads was 1,86,806 km as on March 2009.
Railways: Jodhpur, Jaipur, Bikaner, Kota, Sawai Madhopur and Bharatpur are main rail junctions of State.
Aviation: : Regular air services connect Jaipur, Jodhpur and Udaipur with Delhi and Mumbai.

Festivals

Rajasthan is a land of festivals and fairs, besides the national festivals of Holi, Deepawali, Vijayadashmi, Christmas, etc., birth anniversaries of gods and goddesses, saintly figures, folk heroes and heroines are celebrated. Important fairs are Teej, Gangaur (Jaipur), annual Urs of Ajmer Sharif and Galiakot, tribal Kumbh of Beneshwar (Dungarpur), Mahaveer fair at Shrimahavirji in Sawai Madhopur, Ramdeora (Jaisalmer), Janbheslwari fair(Mukam-Bikaner), Kartik Poornima and Cattle Fair (Pushkar-Ajmer) and Shyamji Fair(Sikar), etc.

Tourist Centres


Hawa Mahal, Jaipur

Deserts of Jaisalmer
Jaipur, Jodhpur,Udaipur, Bikaner, Mount Abu, Sariska Tiger Sanctuary in Alwar, Keoladeo National Park at Bharatpur, Ajmer, Jaisalmer, Pali and Chittorgarh are important places of tourist interest in the State.
State of India, Rajasthan current GK, Rajasthan GK, Rajasthan History, Rajasthan Geography, Rajasthan Tourist, About Rajasthan, Rajasthan General Knowledge, Rajasthan , Rajasthan Current Affairs
Current GK, current general knowledge, currentgk, online Current GK , General Knowledges, CurrentAffairs, Current Affairs 2011, Current GK, GK Quiz,india current gk,Latest GK,Parliament of India, General Knowledge Current, Current GK, current general knowledge, currentgk, General Knowledge Today ,Current Affairs, GENERAL KNOWLEDGE QUIZ, Latest GK, Latest General Knowledge, Current GK online

Rajasthan GK

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 38 other followers